Friday, August 7, 2020

हरि विश्नोई की नई हिंदी ग़ज़ल, आपकी है सियासत चले आइए।



हिंदी के श्रेष्ठ यूट्यूब चैनल इर्द-गिर्द पर हरि विश्नोई की नई हिंदी ग़ज़ल सुनिए- आपकी है सियासत चले आइए, आपकी है रियासत चले आइए। हिंदी भाषा के रचनाकार हरि विश्नोई इस रचना में लिखते हैं- हम तो सपनो से ही पेट भर लेंगे अब, सिर्फ इतनी है चाहत चले आइए।उम्मीद है हिंदी क्लासिक यूट्यूब चैनल इर्दगिर्द पर आपको हमारी यह पेशकश पसंद आएगी।

तकनीकी सहयोग- शैलेश भारतवासी

Back to TOP